kasturi kundal base

डाल से छूटते ही
पत्ता अनाथ हो गया,
हवा का जो भी झोंका आया,
उसीके साथ हो गया!