गुलाब ग्रन्थावली द्वितीय खंड_Gulab Granthavali Volume 2

  1. एक चन्द्रबिम्ब ठहरा हुआ
  2. गीत-वृन्दावन
  3. गीत रत्नावली
  4. सीता-वनवास
  5. नये प्रभात की अँगड़ाइयाँ
  6. बूँदे – जो मोती बन गयी
  7. कस्तूरी कुंडल बसे
  8. कुमकुम के छींटे
  9. रेत पर चमकती मणियाँ
  10. व्यक्ति बनकर आ