गुलिवर की चौथी यात्रा_Guliver Ki Chauthi Yatra

  1. अब यह नाव लगे जिस घाट
  2. कर न सका जो इस जीवन में
  3. काल ने तोड़ दिए सब नाते
  4. कृपा ऐसी ही रखना, स्वामी !
  5. गीत गाकर अब किसे रिझाऊँ !
  6. छोड़ उसपर चिंतायें सारी
  7. जब तक स्वर तुम तक पहुँचेंगे
  8. नभ पर ऊँचा आसन मेरा
  9. नाम ही यदि तुझको प्यारा है
  10. पंछी उड़-उड़ भी जायेंगे
  11. फिर इस जग में आओ
  12. रहें गीत अनगाये
  13. वे दिन देखे, ये भी देख
  14. शलभ! मिला जो तुमको
  15. होगा वही कि जो होना है